Home » लिंग में संक्रमण को दूर करने के लक्षण ,बचाव तथा घरेलू उपाय

लिंग में संक्रमण को दूर करने के लक्षण ,बचाव तथा घरेलू उपाय

व्यक्ति के जीवन मे एक न एक बार लिंग मे संक्रमण की परेशानी  आती है। लिंग मे संक्रमण आना व्यक्ति के लिये परेशानी का विषय होता है। बहुत बार व्यक्ति अपनी लापरवाही के कारण यह संक्रमण लगा बैठता है। 

लिंग मे संक्रमण होना आम तोर पर एक नॉर्मल बीमारी भी है, कई बार व्यक्ति अपने लिंग व उसके आस पास स्किन को साफ नही करता है, जिसे लिंग वाले क्षेत्र पर खुजली होना शुरू हो जाते है। 

खुजली होना आम बात है, परंतु लंबे समय तक रहना चिंता का विषय है, यह लिंग मे संक्रमण कर सकता है। जिससे धीरे धीरे दाग, जलन, छाले हो सकते है। 

बहुत बार व्यक्ति इस संक्रमण के लक्षण दिखने पर वह घर मे ही इसका इलाज यानि की उपाय कर लेता। व्यक्ति को इसके लिये बार बार डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नही पड़ती है। 

लिंग मे संक्रमण को रोकना आसान है  यदि व्यक्ति को सही समय पर लिंग मे संक्रमण होने के लक्षण दिख जाये।  

लिंग मे संक्रमण क्या है?

संक्रमित व्यक्ति के साथ सेक्स करते समय या लिंग पर  लंबे समय तक गंदगी रहने से लिंग व उसके आस पास की जगह पर संक्रमण फैलने लग जाते है। जिसे लिंग मे संक्रमण हो जाते है। यह यीस्ट संक्रमण होते है, जो की लिंग को  बहुत प्रभावित करते है।

यीस्ट संक्रमण के कारण लिंग पर फंगल हो जाते है। जब तक आपके लिंग व उसके आस पास  की स्किन पर नमी व सफाई रहती है, व्यक्ति को लिंग के संक्रमण नही होता है। लिंग संक्रमण ज्यादातर खुजली, दाग, व जलन से पता चलता है। 

लिंग मे संक्रमण के लक्षण 

व्यक्ति के लिंग संक्रमण हो जाने पर भी व्यक्ति कई बार ध्यान नही देता है, या उसे पता  ही नही चलता की लिंग मे किसी तरह का संक्रमण भी है, जिसे यह परेशानी बाद मे बहुत तकलीफ देती है।

हमने लिंग के संक्रमण के कुछ लक्षण नीचे बताए है जिससे आप पता कर सकते है की आपको लिंग मे संक्रमण की बीमारी है, साथ ही साथ आप जल्द से जल्द लिंग में संक्रमण को दूर करने के घरेलू उपाय भी कर सकते है। चलिये जानते है:

  • सेक्स करते समय लिंग मे दर्द होना
  • सेक्स करने मे मजा नही आना यानि की फंकशन का खराब होना। 
  • लालिमा आना
  • लिंग के मुह पर मोटा डिस्चार्ज जमा  हो जाना। 
  • गंदी बदबू का आना
  • लिंग मे सूजन आ जाना 
  • लिंग व उसके आस पास की स्किन पर खुजली होना शुरू  हो जाना। 
  • लिंग की चमड़ी को  पीछे हटाने मे तकलीफ होना। 
  • लिंग व उसे आस पास दाग होना। 
  • लिंग मे पेसाब करते समय जलन होना। 

लिंग में संक्रमण कब बढ़ जाता है। 

लिंग पर होने वाला संक्रमण यीस्ट संक्रमण होता है, यह एक प्रकार का फंगल होता है, जो लिंग पर एक बार हो जाने पर लिंग को बहुत प्रभावित करते है। 

लिंग पर इस संक्रमण के बढ्ने के कुछ करना हमने नीचे दिये है, जिससे आप इस संक्रमण को बढ्ने से रोक सकते है, चलिए जानते है:

  • लंबे समय तक एंटीबायोटिक दवाईया लेने से आंतों मे अच्छे बेकटीरिया मर जाते है। जिससे लिंग के संक्रमण बड़ सकते है। 
  • व्यकित को यदि डायबटिस है तो  इस संक्रमण का प्रभाव ज्यादा हो सकता है। 
  • लिंग के आस पास खुशबूदार साबुन का इस्तेमाल करने से।  
  • रोजाना नही नहाने से लिंग के संक्रमण बड़ सकते है। 
  • लंबे समय तक एक ही अंडरवियर पहने रहने से लिंग के संक्रमण बढ़ सकते है। 
  • टाइट कपड़े यानि की जींस पहने से लिंग के संक्रमण बढ़ सकते है। 

लिंग में संक्रमण का बचाव 

कई बार व्यक्ति के लिंग व उसके आस पास की स्किन पर संक्रमण हो जाते है  जिससे यह व्यक्ति को बहुत तकलीफ देते है। 

इन संक्रमण के कारण लिंग पर खाज खुजली, दर्द, जलन आदि की परेशानी  हो सकती है। व्यक्ति खुद भी  इसका इलाज कर सकता है, वह इसे ज्यादा फैलने से रोकता है। 

  • सेक्स करने के बाद लिंग व उसके आस पास की स्किन को  साफ कर लेना चाहिए। 
  • कई बार महिलाओ मे यीस्ट संक्रमण दिखाई नही देते है, परंतु अंदर संक्रमण हो सकते है। इसलिए सेक्स करने से पहले पता रहे लिंग मे किसी तरह का संक्रमणतो नही है। 
  • लिंग के संक्रमण से बचने के लिये व्यक्ति को सुगंधित जेल का या किसी खुशबू वाली साबुन का इस्तेमाल नही करे। 
  • पानी ज्यादा से ज्यादा पीना चाहिए। 
  • यदि लिंग पर किसी भी तरह के छाले हो तो सेक्स तब तक नही करे जब तक छाले ठीक नही हो जाते है। 
  • ज़्यादातर एंटीफंगल की क्रीम का इस्तेमाल करने को कहा जाता है। यदि डॉक्टर को दिखाते है तो  लिंग में संक्रमण को दूर के इलाज के लिये वह ज्यादा तर क्रीम लिख देते है। 
  • इसके बचाव के लिये व्यक्ति को संक्रमीत व्यक्ति के साथ सेक्स करने से बचना होगा। 
  • लिंग में संक्रमण का इलाज के लिये आप सेक्स करते समय कोंडम का इस्तेमाल  करना ना भूले। 
  • जिस व्यक्ति को डायबिटीज़ की परेशानी है वह उन्हे यीस्ट संक्रमण का ज्यादा असर हो सकता है। इस लिये संक्रमण का पता लगने पर जल्दी से उपचार कर सकते है। 

लिंग में संक्रमण को दूर करने के घरेलू उपाय

लिंग की बीमारी उस पर रह जाने वाले संक्रमण के कारण होती है। जब यह संक्रमण व्यक्ति के लिंग पर रह जाते है तो लिंग पर खाज- खुजली, दर्द, जलन आदि की परेशानी आती है।  

इसलिए लिंग में संक्रमण को दूर करने के घरेलू उपाय भी है, जिसकी मदद से व्यक्ति घर पर भी लिंग से संक्रमण को दूर कर सकता है। चलिये जानते है:

ऐलोवीरा जेल

व्यक्ति के लिंग पर किसी तरह के बेकटीरिया रह जाने से वह संक्रमण मे बदल जाते है, जिससे लिंग पर खुजली होना शुरु होने लग जाती थी। इसके लिये व्यक्ति घर मे भी घरेलू उपाय कर सकता है, इसके लिये ऐलोवीरा जेल को सबसे अच्छा बताया गया है। 

यह लिंग के संक्रमण को दूर करने मे मदद करता है। ऐलोवीरा एम प्राकर्तिक एंटीबेकटीरिया के गुण होते है, यह यीस्ट संक्रमण को दूर करने के लिये सही है। 

यदि इसका रोजाना इस्तेमाल किया जाए तो यह लिंग में संक्रमण को पूरी तरह से दूर करने मे कारगर है। यह जल्द ही असर करता है। 

लहसुन

लिंग में संक्रमण को दूर करने के लिये लहसुन के अच्छा उपाय है। यदि व्यक्ति बाहर की दवाइया नही ले सकता है  तो लहसुन का उपयोग कर सकता है। यह एक तरह का घरेलू उपाय है। 

जब व्यक्ति के लिंग पर संक्रमण ज्यादा हो जाता है तो  व्यक्ति को दिन मे 2 या 3 लहसुन की गठिया खानी चाहिए।

इसमे पाये जाने वाले रसायन बहुत ही तेजी से लिंग पर असर करते है। यह लिंग में संक्रमण को दूर करने के घरेलू उपाय मे से सबसे असरदार भी माना जाता है। 

नारियल का तेल

लिंग पर लगे संक्रमण बहुत बार खुजली पैदा कर देते है। जिससे संक्रमण धीरे धीरे बढ़ते ही जाते है। जब लिंग पर संक्रमण ज्यादा हो जाते है तो लिंग पर नारियल का तेल लगा लेना चाहिए यह  पूरी तरह से सुरक्षित भी है। यह लिंग पर लगे संक्रमण को जल्दी से दूर करता है। 

यदि आप इसका इस्तेमाल रोजाना करते है, तो लिंग के आस पास की स्किन पर आयी नमी को दूर कर देता है। 

इसे लगा कर आप साफ कुछ देर बाद मे इसे साफ कर ले। यह धीरे धीरे लिंग के संक्रमण को दूर कर देता है। इससे लिंग को किसी तरह का नुकसान भी नही होता है। यह आसानी से घर मे मिल जाता है। 

दही  

दही मे ठंडे गुण पाये जाते है, इसमे लैक्टोबेसिलस के बैक्टीरिया होते है , जो  यीस्ट संक्रमण को मार सकते है। 

दही घर मे आसानी से मिल जाता है। दही के ठंडेपपन की वजह से यह लिंग को किसी तरह का नुकसान नही  होने देता है। व्यक्ति इसे आसानी से इस्तेमाल कर सकता है। 

यदि व्यक्ति को  दही को लिंग पर लगाने मे किसी तरह का  हीचकिचाहट होता है  तो व्यक्ति दही को साधा भी खा सकता है। 

ध्यान रहे दही को मीठा नही करे, मीठे दही से दही मे होने वाले लैक्टोबेसिलस के बैक्टीरिया के गुण कम हो जाते है, जिससे यह लिंग के यीस्ट संक्रमण को दूर करने मे सक्षम नही होते है। यह लिंग में संक्रमण को दूर करने के घरेलू उपाय मे से एक आसान वह कारगर तरीका है। 

सेब का सिरका 

सेब का सिरका एक तेज प्रभावित तरीका है, यह यदि किसी साधारण स्किन पर  लगाने से यह जलन पैदा कर सकता है, परंतु यदि इसे यीस्ट संक्रमण पर यानि लिंग पर फैले संक्रमण पर सीधा लगाने से यह जल्दी असर करता है। 

व्यक्ति इसे सीधा संक्रमीत वाली स्किन पर लगा सकते है। लिंग में संक्रमण को दूर करने के घरेलू उपाय के लिये आप सेब का सिरकाको नाहते समय पानी मे दो कप सिरका डाल कर नहा सकते है। 

आप सिरका को पानी मे या बाथटब मे दाल कर उसमे 20 मिनट तक बैठे यह आपके लिंग के संक्रमण को सही कर देते है।  

ध्यान रहे सिरका को संक्रमण वाली ही जगह पर लगाये ना की नाजुक स्किन पर।