Home » स्टूडेंट की माँ को चुदाई का पाठ पड़ाया

स्टूडेंट की माँ को चुदाई का पाठ पड़ाया

हैल्लो दोस्तों, मेरी  यह पहली कहानी है. में दिल्ली में रहता हूँ और मेरी ही गली में एक घर है. वहाँ एक भाभी रहती है, वो बहुत सेक्सी है और उनका मक्खन जैसा शरीर है और हाईट 5 फुट 10 इंच है, उनका फिगर साईज 38-28-25 है और वो दिखने में बहुत मस्त है. मेरी उनसे सिर्फ़ हाए हैल्लो थी. फिर एक बार उनके पति ने मुझे उनके बेटे को उन्ही के घर में कोचिंग पढ़ाने को कहा, उनका बेटा 6 साल का है.

अब मेरी तो जैसे किस्मत ही खुल गयी थी, अब शुरू के 1 महीने तो मेरी उनसे सिर्फ़ हाए हैल्लो ही होती थी. फिर धीरे-धीरे हमारी बातें शुरू हो गयी, उनके पति बिजनसमैन है तो वो सुबह चले जाते है और रात को आते है. में उनके बेटे को दिन में पढ़ाने जाता था, अब मुझे 3 महीने हो गये थे, जब दिसम्बर का महिना चल रहा था दिल्ली में बहुत सर्दी थी.

फिर एक दिन में उनके बेटे को पढ़ाने गया तो दरवाजा खुला था तो में सीधा अंदर चला गया तो मैंने देखा कि कंप्यूटर पर नंगी फोटो खुली हुई थी तो में वहीं बैठ गया. फिर थोड़ी देर में लवली (भाभी का नाम) बाहर आई तो उसने सिर्फ़ टावल ही पहन रखा था और दरवाजा बंद कर दिया, उन्हें नहीं पता था कि में वहीं बैठा हूँ और फिर उन्होंने अपना टावल खोलकर कंप्यूटर के सामने बैठकर ब्लू फिल्म चला दी, तो में देखता ही रह गया.

जैसे ही मैंने उन्हें कुछ कहा, तो वो बुरी तरह से डर गयी और मुझसे पूछा कि तुम कब आए? तो मैंने कहा कि दरवाजा खुला तो में आ गया. फिर वो भागकर बाथरूम में चली गयी और फिर अपना गाउन पहनकर आई और मुझसे कहने लगी कि प्लीज किसी को कुछ मत बताना. फिर मैंने कहा कि आपको हुआ क्या? आप सॅटिस्फाइड नहीं हो जो दिन में ये सब, तो उन्होंने कहा कि उनके पति ने उनके साथ पिछले 3 महीने से सेक्स नहीं किया है और फिर वो रोने लगी.

फिर क्या था? मुझे मौका मिल गया और उनके पास जाकर उन्हें किस करने लगा, तो उन्होंने बहुत मना किया. फिर मैंने उनसे कहा कि में सबको बता दूँगा, तो वो मान गयी और अब उन्हें भी मज़ा आने लगा था. फिर मैंने उनका गाउन उतारा और उनकी पूरी बॉडी पर किस करने लगा और उनसे लिपट गया. फिर मैंने उन्हें वहीं सोफे पर लेटाकर उनके ऊपर लेटकर उन्हें किस करने लगा.

अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और अब वो भी मेरा रेस्पोंस दे रही थी. फिर हमने 69 की पोज़िशन बनाई और शुरू हो गये. फिर हम 15 मिनट तक ऐसे ही रहे और फिर मुझसे रहा नहीं गया, अब मेरा लंड बिल्कुल रोड कि तरह हो गया था. फिर में जैसे ही उनकी चूत में अपना लंड डालने लगा, तो वो बोली कि ऐसे नहीं पहले कंडोम पहन लो, तो मैंने कहा कि कंडोम कहाँ है? तो वो अपने रूम से कंडोम लेकर आई. फिर उन्होंने मुझे कंडोम पहनाया और फिर में शुरू हो गया और बड़ी जोर जोर से धक्के मारने लगा.

फिर थोड़ी देर के बाद मेरा पानी निकल गया तो मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया, तो वो बोली कि और करो, तो फिर मैंने अपनी 3 उँगलियाँ उसकी चूत में डाल दी और अंदर बाहर करने लगा.

थोड़ी देर में ही उन्होंने अपना पानी छोड़ दिया. अब वो अपनी चरम सीमा पर पहुँच गयी थी और फिर वो ढीली हो गयी और लेट गयी. अब में उनके बूब्स को दबाकर पीने लगा था और अब मुझे भूख लगने लगी थी. फिर मैंने उनसे कहा कि मुझे भूख लग रही है, तो वो बोली कि में किचन में से कुछ लाती हूँ और वो जाने लगी.

पीछे से उनकी गांड देखकर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया तो में उनके पीछे-पीछे किचन में चला गया और उनसे पीछे से लिपट गया, तो वो बोली कि कुछ खा लो, तो मैंने कहा कि बाद में खा लूँगा और उन्हें वहीं थोड़ा सा झुकाया और उनकी सीधी टांगो को हल्का सा ऊपर उठाया और उनकी गांड में अपना लंड घुसा दिया और उन्हें चोदना शुरू कर दिया. फिर मैंने 10 मिनट के बाद अपना लंड बाहर निकाला और अपना पानी छोड़ दिया और वापस आ गया.

फिर वो खाना लेकर आई और कुर्सी पर बैठ गयी, तो मैंने कहा कि वहाँ नहीं मेरी गोदी में बैठो, तो फिर वो मेरी गोदी में बैठ गयी. फिर वो मुझे अपने हाथ से खाना खिलाने लगी और में खाने के साथ उनका बूब्स दबाता रहा और चूसता रहा. फिर खाना खाने के बाद हम बाथरूम में नहाने गये और मैंने वहाँ भी एक फिर से उनकी चुदाई की और फिर फ्रेश हो गया. अब शाम के 6 बज गये थे और अब उनका बेटा भी आने वाला था. फिर हम बातें करने लगे और फिर थोड़ी देर के बाद में चला गया. फिर उसके बाद हम रोजाना एक चुदाई का पाठ पड़ते थे, अब हमें बहुत मज़ा आता था. फिर थोड़े दिनों के बाद वो गर्भवती हो गयी और ये बात जब उसने मुझे बताई, तो में बहुत खुश हुआ और वो भी बहुत खुश थी.