Home » स्विमिंग सिखने के बहाने ट्रेनर से की चुदाई

स्विमिंग सिखने के बहाने ट्रेनर से की चुदाई

हेल्लो दोस्तों, मेरा नाम स्वाति है ओर मैं ग्वालियर की रहने वाली हूं। फिलहाल मेरी उम्र अभी 19 साल है और मैं 12वी कक्षा पास कर चुकी हूं। मैं गौरे ओर लचीले बदन वाली एक कामुक लड़की हूँ और मेरे बूब्स ओर गांड भी काफी ज्यादा उभरे हुए है। मै काफी कामुक लड़की हूँ मेरे घर से मुझे लड़कों से बात तक नही करने देते है लेकिन फिर भी मुझे लड़को पर लाइन मारना बहुत ज्यादा पसंद है। आज मैं आपको अपनी एक सच्ची कहानी सुनाने जा रही हूं जो कि मेरे जीवन की सबसे बढ़िया चुदाई थी। तो चलिए कहानी शुरू करती हूं।

तो बात उस समय की है जब मैने अपनी 12वी कक्षा की पढ़ाई पूरी कर ली थी। अब कॉलेज लेने से पहले मेरे पास 3 महीने का समय था। मैं सोच ही रही थी कि इन तीन महीनों में मुझे कैसे अपना टाइम पास करना चाहिए, तभी मेने स्विमिंग सीखने का फैसला कर लिया था। कुछ ही दिनों में मुझे एक अच्छी स्विमिंग की कोचिंग ढूंढना था। तभी मेरी फ़्रैंड ने मुझे एक कोचिंग के बारे में बताया, जहां पर डांस योगा ओर स्विमिंग सभी चीजें सिखाते थे। मुझे जल्द ही स्विमिंग सीखना थी, इसलिए मैं कुछ ही दिनों में उस कोचिंग सेंटर में कोंचिंग फीस ओर बाकी चीजों के बारे में जानने गयी थी।

मैं जैसे ही उस कोचिंग सेंटर में पहुंची मुझे सभी जानकारियां देने के लिए एक ऑफिस के अंदर बुलाया गया था। जैसे ही मैं ऑफिस के अंदर गयी उसके अंदर एक हैंडसम लड़का बैठा हुआ था। वह लड़का तगड़ी बॉडी वाला एक आकर्षक लड़का था, जिस पर से मेरी नजर हट ही नही रही थी। थोड़ा बहुत समझने के बात मुझे पता चला कि वही मेरे कोच है जो मुझे स्विमिंग सिखाने वाले है। मैं उनकी खूबसूरती की वजह से उनसे बात करने में थोड़ा शर्मा रही थी। उनसे बातें करते हुए उन्होंने मुझे कोचिंग फीस से लेकर सभी चीज़ो के बारे में अच्छे समझा दिया था। मुझे शाम को 5 बजे वाली बैच दी गयी थी, जिसमे मेरे अलावा दो और लड़कियां भी स्विमिंग सीखने आया करती थी। मुझे वह सेंटर काफी अच्छा लगा साथ ही मेरे समय पर सिर्फ दो ही लड़कियां ओर आया करती थी, इसी वजह से मैने अगले ही दिन कोचिंग जाना शुरू कर दिया था।

अगले दिन मेने एक स्विमिंग ड्रेस भी खरीद ली थी। मुझे एक दम टाइड माल लगना पसंद है इसलिए मैंने ऐसी स्विमिंग ड्रेस खरीदी थी, जिसमे मेरे बूब्स ओर गांड काफी बाहर आते हुए दिखाई दे रहे थे। अगले दिन मैं जैसे ही स्विमिंग सीखने पहुंची तो वहां पर मेरा हेंन्डसम कोच पहले से ही मौजूद उन दो लड़कियों को ट्रेनिंग दे रहा था। उस कोच ने जैसे ही मुझे देखा उसने तुरंत ही मुझे पूल में उतरने के लिए कहा। पहले तो मैं ड्रेस चेंज करने के लिए ड्रेसिंग रूम में चली गयी और अपने कपड़े उतार कर स्विमिंग ड्रेस में फिर से बाहर आ गयी। उसके बाद मैं जैसे ही पूल में उतरी कोच ने मुझे पहले पानी में पैर चलाने के बारे में सिखाने लगें। उन्होंने मुझे पानी मे लगी सीढ़ियों को पकड़ कर अपने पैर चलाने के लिए कहा। मैं अपने पैरों को ठीक से नही चला पा रही थी, इसलिए मेरा कोच तुरन्त पानी मे आया और उसने मेरी कमर को स्पर्श करते हुए मुझे फिर से पैर हिलाने के लिए कहा। उस कोच के मुझे स्पर्श करने से ही मुझे काफी अच्छा महसूस हो रहा था। मेरी स्विमिंग ड्रेस के गीले हो जाने के कारण मेरे निप्पल भी स्विमिंग ड्रेस से दिखाई दे रहे थे। मैं देख पा रही थी कि मेरे निप्पलों की वजह से मेरे कोच का ध्यान बार बार भटक कर मेरे निप्पलों को तरफ जा रहा था। मैं काफी खुश थी कि मेरे कोच को मेरी खूबसूरती काफी अच्छी लगी थी।

अब रोज ही उसी समय मे सेंटर पर स्विमिंग सीखने जाया करती थी। इसी दौरान अब मेरी ओर कोच की एक दूसरे से काफी बनने लगी थी, जिस वजह से बाकी लड़कियां मुझसे काफी जलने लग गयी थी। कोच भी काफी दिमागी कीडा था, वो मुझे सिखाने के बहाने मेरे बूब्स ओर गांडों को टच करता था। मुझे भी इन सब चीजों में काफी मजा आ रहा था, एसलिए मैं भी उनका कभी इस पर विरोध नही करती थी। एक बार की बात है जब में ड्रेसिंग रूम में अपने स्विमिंग ड्रेस को पहना रही थी, तभी मुझे कुछ आहत सुनाई दी। मेने देखा कि एक खिड़की में से कोच मुझे कपड़े बदलत हुए देख रहा है लेकिन मेने उन्हें यह महसूस नही होने दिया कि अब तक मैं जान चुकी हूं कि वो मुझे देख रहे है। मेने इस चीज़ का बिलकुल भी विरोध नही किया, बल्कि मुझे काफी अच्छा लग रहा था कि इतना हॉट दिखने वाला कोच मुझे इस तरह से चोरी छुपे देख रहा है।

मेने बिना देरी किये अपने कपड़ों को बदलना जारी रखा मेने इसी बीच कोच को अपने बूब्स गांड के भी दर्शन करवा दिए थे, जिसे देखने के लिए कोच इतनी मेहनत से खिड़की में झांक रहा था। थोड़े दिन बाद ही कुछ ऐसा हुआ जिसके बारे में मेने सोचा भी नही था। जब मैं कपड़े बदल रही थी। कोच अचानक से फिर से उसी खिड़की की तरफ आकर मुझे देखने लगा। लेकिन इस बार मेने गौर किया कि कोच मोबाइल से मेरी वीडियो बना रहा है। इस  भी मैं ज्यादा हैरान नही थी क्योंकि मैं समझ चुकी थी कि कोच हो ना हो इस वीडियो के चलते मेरा फायदा उठाने जा रहा है। मेने इस चीज़ को लेकर ज्यादा हैरान न होते हुए वीडियो में भी अपनी चुद के दर्शन करवा दिए थे।

कुछ दिन तो कोच चेजिंग रूम में ऐसे ही मेरी फ़ोटो ओर वीडियो बनाता रहा। फिर कुछ दिन बाद मेरे ही समय पर आने वाली उन दोनों ही लड़कियों की ट्रेनिंग पूरी हो चुकी थी, इसलिए उन दोनों लड़कियों ने कोचिंग में आना बंद कर दिया था। अब केवल मैं अकेले ही सेंटर पर स्विमिंग सीखने जाया करती थी। एक दिन रोजाना की तरह मैं सेंटर पर अपने कपडे बदल रही थी। तभी वह कोच अचानक से मेरे रूम में आ गया था। मैं कोच की हरकत को पहले ही समझ गयी थी फिर भी मेने झूट मुठ का विरोध जताते हुए कहा कि “आपकी हिम्मत कैसे हुए चेंजिंग रूम में आने की, मैं पुलिस को बता दूंगी। तभी वह कोच मुस्कुराता हुआ मेरी तरफ बढ़ने लगा। मेने कोच से कहा “ये तुम क्या कर रहे हो ,मेरी तरफ आने की कोशिश मत करना।

मैं तो वही कर रहा हूँ मेरी जान जो मुझे करना चाहिए। – कोच ने शरारत भरी आवाज में कहा

कुछ ही देर बाद कोच मेरे सामने आया और मेरे आगे मोबाइल करते हुए मेरी कपड़े उतारते हुए वाली वीडियो को मुझे दिखाने लग गया था। मुझे पहले से ही पता था कि ऐसा कुछ होने वाला है लेकिन कोच अभी  तक यह बात को नहीं जानता था कि जो भी कुछ हो रहा है वो सबकुछ मेरी मर्जी से ही हो रहा है। इसलिए वीडियो को देखने के बाद में झूठ मुठ का घबराने का नाटक करने लगी और सर से कहने लगी कि “प्लीज इसे किसी को मत दिखाइयेगा मैं बदनाम हो जाऊंगी।

ठीक है मैं इसे किसी को नही दिखाऊंगा लेकिन मैं तुम्हे जैसा कहूंगा, तुम्हे वैसा ही करना होगा। – कोच ने जवाब देते हुए कहा

आप जैसा बोलोगे मैं बिल्कुल वैसा ही करूंगी, लेकिन आप मुझसे आखिर क्या चाहते है? –  मेने पूछते हुए कहा

मेरे बस इतना कहते ही सर मेरी तरफ बढ़ा और मुझे चूमने लग गया था। मुझे काफी अच्छा लग रहा था लेकिन मेने एक बार फिर से झूठ मुठ का विरोध जताते हुए कहा “सर दूर हटिये, प्लीज ऐसा मत कीजिये। कुछ देर बाद ऐसे ही चूमते रहने के बाद मेने भी कोच को चुमना शुरू कर दिया था। कुछ देर बाद ही सर ने अपनी पेंट को उतार दिया और अपना 7 इंच का ओजार मेरे मुंह के सामने लाकर खड़ा कर दिया था। कोच ने फिर मुझे उनके लंड को चुसमे के लिए कहा। मेने इस पर विरोध जताते हुए कहा “ सर प्लीज ऐसा मत कीजिये मैं वैसी लड़की नही हूँ जैसा कि आप सोच रहे है”।

“जैसा मेने कहा है चुप चाप वैसा ही कर वरना ये वीडियो तेरे घर पर भेज दूंगा समझी” कोच ने मुझे धमकी देते हुए कहा। बस उस कोच के इतना कहते ही मेने उसके लंड को अपने मुंह में पूरी तरह से उतार कर उसे चूसना शुरू कर दिया था। मैं काफी लम्बे समय बाद किसी का इतना लंबा लंड चूस रही थी, इसलिए मुझे काफी मजा आ रहा था। सबसे मजे की बात यह थी कि कोच को अभी तक ऐसा लग रहा था कि मैं उसकी वीडियो या धमकी की वजह से ऐसा कर रही हूं। कुछ ही देर बाद मैं काफी उत्तेजित हो गयी थी। अब तक कोच की भी उत्तेजना अपनी चरम सीमा तक पहुंच गयी थी। कुछ ही देर बाद सर ने मुझे चेंजिंग रूम में रखी हुई टेबल पर सुला दिया था। उन्होंने एक एक कर के मेरे पूरे कपड़ों को उतार कर जमीन पर फेंक दिया था।

अब कोच मेरे बड़े बड़े बूब्स को चूसने लग गया था। मुझे काफी मजा आ रहा था। कोच को देख कर ऐसा लग रहा था कि वो शायद पहली बार किसी के साथ सेक्स कर रहा था। अब उस कोच ने मेरी योनि को भी चाटना शुरू कर दिया था। उसने कुछ ही देर के अंदर मेरी योनी में से मेरा कामरस बाहर निकाल दिया था। कोच की उत्तेजना को देख लग रहा था कि वो मुझे चौदने के लिए काफी समय से बेताब था, लेकिन मेरी भी बेसब्री इतनी कम नही थी। कुछ ही देर बाद सर ने अपना 7 इंच का लौड़ा मेरी मक्खन जैसी चुद के अंदर उतार दिया था। कोच का लंड अंदर जाते ही मेरे मुंह से एक तेज चीख बाहर निकल गयी थी। कोच काफी जुनून में था, वो मुझे तेज झटके देता हुआ चोदे जा रहा था। मैं भी मजे से चुद जा रही थी और मेरी आवाज भी पूरे चेंजिंग रूम में गूंजे जा रही थी। मेने अपनी छुट्टियों के तीन महीने झूठ मुठ का ब्लैकमेल का बहाना बनाकर कोच से चुदाई करती रही। कोच उस दिन के बाद से हमेशा मुझ पर अलग अलग पोजिशन अपना कर मेरे साथ जबरदस्त चुदाई करता रहता था।

आपको यह कहानी पसन्द आयी हो तो इसे सभी के साथ शेयर जरूर करें।